शुक्रवार, 11 मार्च 2011

दीपाकी चंद तस्वीरें

२)महाराष्ट्रियन साड़ी में दीपा...जब वो प्रथम अपत्य के समय उम्मीद से थी.  
३)दीपा-लाल साड़ी में..
४)बेटी के जनम पे...
५)बेटे के जनम पे...
६)अपने नन्हें मुन्नों के साथ...
७)सबसे बीचोबीच बैठी,लम्बी चोटियोंवाली बच्ची दीपा!
८)समंदर के किनारे...बच्चों के साथ...उसके साथ हुए 'हादसे'के एकदम बाद...
९)अन्य तीनो तस्वीरें जब दीपा अपने बेटे के समय गर्भवती थी..

28 टिप्‍पणियां:

ज्योति सिंह ने कहा…

saari tasvire bahut hi achchhi hai .mahila divas ki badhai .

रचना दीक्षित ने कहा…

क्या यह सत्य घटना है. मैं तो इसे काल्पनिक पत्रों कि कथा समझ रही थी. अद्भुत चरित्र के लिए दीपा को बधाई.

दीपक 'मशाल' ने कहा…

dekh kar achchha laga..

वन्दना ने कहा…

दीपा को देखकर अच्छा लगा।

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) ने कहा…

चित्रों को साझा करने के लिए धन्यवाद!

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) ने कहा…

चित्रों को साझा करने के लिए धन्यवाद!

चला बिहारी ब्लॉगर बनने ने कहा…

एक पीड़िता की मासूम तस्वीरें!

रवि कुमार ने कहा…

आभार...इन चित्रों के लिए...

सुरेन्द्र "मुल्हिद" ने कहा…

खूबसूरत तस्वीरें!

ZEAL ने कहा…

दीपा की कहानी पढ़कर और इन चित्रों को देखकर एक निकटता सी महसूस हो रही है ।

vijaymaudgill ने कहा…

zyadatar kahani nikalti to sachai se hi par iska andaza nahi tha ki ye itni sachi hogi.


kehna bahut kush chah raha hu pata nahi kyu kush kehte nahi ban raha. bheetar kahi kush toot raha hai.

ali ने कहा…

ये सभी तस्वीरें खुशगवार लम्हों की हैं जबकि उसकी असल जिंदगी कितनी दुःख भरी थी !

Udan Tashtari ने कहा…

सुन्दर तस्वीरें.

daanish ने कहा…

चित्र
सभी पात्रों को
क़रीब ले आये हैं ...

प्रदीप कांत ने कहा…

तस्वीरें जितनी खुश्गावार होती है जिन्दगी उतनी नहीं

pragya ने कहा…

कैसा अजीब सा एक अहसास जगता है...इन खुशगवार तस्वीरों के पीछे कितना दर्द और कितने हादसे जुड़े हुए हैं.....अगर आपने हमसे दीपा की कहानी साझा न की होती तो क्या कभी इन तस्वीरों को देखकर उसकी तकलीफ भरी दास्तान का हम अन्दाज़ा भी लगा सकते थे.....

Mrs. Asha Joglekar ने कहा…

Chitr achche lage, to ye saty katha hai. Hats off to Deepa.

muskan ने कहा…

आपको एवं आपके परिवार को होली की हार्दिक शुभकामनायें!

ज्ञानचंद मर्मज्ञ ने कहा…

कहानी को सामने खड़ा देखकर सहसा विश्वास नहीं हुआ!
तस्वीरें देखकर वो सारी घटनाएँ चलचित्र की तरह आँखों में फिर से उतर गयी !
होली की शुभकामनाएँ !

डॉ० डंडा लखनवी ने कहा…

बोलते हुए चित्र.....
सराहनीय लेखन, कोटि-कोटि बधाई।
आपका होली के अवसर पर विशेष ध्यानाकर्षण हेतु.....
==========================
देश को नेता लोग करते हैं प्यार बहुत?
अथवा वे वाक़ई, हैं रंगे सियार बहुत?
===========================
होली मुबारक़ हो। सद्भावी -डॉ० डंडा लखनवी

सतीश सक्सेना ने कहा…

होली पर मैं आपको तथा परिवार के लिए मंगल कामनाएं करता हूँ !

Babli ने कहा…

बहुत सुन्दर ! उम्दा प्रस्तुती! ! बधाई!
आपको एवं आपके परिवार को होली की हार्दिक शुभकामनायें!

POOJA... ने कहा…

hamesh sirf deepa ke baare mei padha, ussey aksharon mei mile aaj yun milkar bahut accha laga...
holi ki dher saari badhiyan...

Dr Varsha Singh ने कहा…

Nice photographs....

Thanks for shearing ....

HAPPY HOLI TO YOU !!!!!

मीनाक्षी ने कहा…

यकीन मानिए एक साथ 12 कड़ियाँ पढ़ने के बाद जब दीपा के चित्र देखे तो घटनाचक्र सजीव सा उठा...दीपा के पति और बस वाले बुरे आदमी के चरित्र जहाँ मन को घृणा से भर देते हैं वहीं अजय और नरेन्द्र जैसे पात्र मरहम लगाने का काम भी करते हैं.

Basanta ने कहा…

Read Deepa's heartbreaking story today! I am filled with tears. She is an wonderful human being.

And thanks a lot for putting her photographs too.

Rajendra Swarnkar : राजेन्द्र स्वर्णकार ने कहा…

इतनी सुंदर पोस्ट पर अब कुछ कह पा रहा हूं … लेकिन शब्द कहां हैं ?


बस , इतना ही कि "ईश्वर सबको सुखी और प्रसन्न रखे … !"


हार्दिक शुभकामनाएं !

Linhy ने कहा…

Love your blog and your pictures ! def. following you now! when you get a chance by by my blog and check it out and hopefully my writing will send you sparks so you can also become one of my followers too!

http://lifemadness-linhy.blogspot.com