सोमवार, 26 जुलाई 2010

बिखरे सितारे..एक साल..

आज  पहली बार मुझे इत्तेफ़ाक़ से याद आया की देखें इस ब्लॉग पे पहली पोस्ट कब लिखी...देखा ,कल एक साल हो गया..'बिखरे सितारे' पे लेखन करते समय भावनिक और मानसिक दृष्टी से मै बेहद कठिनाई से गुज़री...विश्वास नही हो रहा की,यह मालिका निर्विघ्न पूरी हो गयी.पाठक दोस्तों का प्यार था,जिस कारण मनोबल बना रहा. सभी की तहे दिल से शुक्रगुज़ार  हूँ मै.

12 टिप्‍पणियां:

Mukesh Kumar Sinha ने कहा…

badhai.........:)

वन्दना ने कहा…

एक साल पूरा होने की हार्दिक बधाई।
सभी आपके लेखन के कायल हैं और आगे भी इसी प्रकार आपके साथ रहेंगे।

रचना दीक्षित ने कहा…

"पाठक दोस्तों का प्यार था,जिस कारण मनोबल बना रहा"

आप किसी ग़लतफ़हमी में जी रही हैं !!!!!ये पाठक मित्रों का प्यार नहीं था जो आपका मनोबल बढ़ा रहा था ये तो आपका का सशक्त लेखन, संवेदनशीलता, सच्चापन और नवीनता थी जो कम से कम मुझे तो मजबूर कर रही थी पोस्ट पढ़ने को. आपकी इस उपलब्धि से मुझे भी ख़ुशी है. जीवन में आगे बढती रहें मुश्किल तो आनी जानी हैं

arvind ने कहा…

bahu-bahut badhai ek saal bloging ke pura hone par.blogworld aapke yogdaan kaa rini hai.

Smart Indian - स्मार्ट इंडियन ने कहा…

बधाई!

शाहिद मिर्ज़ा ''शाहिद'' ने कहा…

शानदार लेखन का एक साल पूरा होने पर..
बहुत बहुत शुभकामनाएं...
ये सिलसिला अपने उरूज को कायम रहे..
इसी कामना के साथ.

ali ने कहा…

दुआ करता हूं कि सालों साल लिखती रहें आप !

मनोज कुमार ने कहा…

बहुत बहुत बधाई ! अनन्त शुभकामनाएं ।

दीपक 'मशाल' ने कहा…

आजकल कम समय मिल पाने की वजह से नियमित नहीं हो पा रहा.. पर बधाई देने तो आ ही सकता हूँ.. :) बहुत-बहुत बधाई और शुभकामनाएं.. और आपने फिर बताया नहीं उन मित्र के विषय में कुछ??? आप समझ रही होंगीं मैम..

अजय कुमार ने कहा…

ब्लागिंग की सालगिरह मुबारक हो ।

सुरेन्द्र "मुल्हिद" ने कहा…

Kshama ji...mubaarkaan....100 saaal tak aise he likhte raho.

Mrs. Asha Joglekar ने कहा…

क्षमा जी जारी रखें देर से ही सही पर पढ रहे हैं सब आपको ।